Faster Writing: जल्दी लिखना सीखें इन 6 स्टेप्स में!

Faster Writing: जल्दी लिखना सीखें इन 6 स्टेप्स में!

परीक्षा के एग्जाम से लेकर किताबों के लेखक तक जिंदगी में अच्छा लिखने के कई उपयोग हैं

हों सकता है आप एक छात्र हों एक राइटर हों या फिर वह व्यक्ति जिसका लिखने से जुड़ा काम है अब लिखना आपका पैशन भी हो सकता है

अब चाहे पेशन हो या काम अगर आप जल्दी लिखने में परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो कुछ चीजों को इंप्लीमेंट करके इस समस्या को दूर कर सकते हैं

और फिर आपकी लिखने की कला देखकर हर कोई बोल उठेगा “अरे वाह”

तो चलिए जानते हैं वो 6 स्टेप्स…

जल्दी और बेहतर लिखने का तरीका

बोलकर लिखे

अपनी लिखने की गति को तेज और बेहतर करने के लिए जो सबसे पहला स्टेप आपको फॉलो करना है वो है खुद बोलते हुए लिखे
न ज्यादा तेज बोले न ज्यादा धीमा आपको मीडियम फ्लो के साथ बोलते हुए लिखना है 

आप अपनी सहूलियत के हिसाब से 15 मिनट, 30 मिनट, 1 घंटा जितना आप बोल कर लिख सकें! लिखें

यह तरीका बिल्कुल बॉडीबिल्डिंग की तरह काम करता है जिस तरह सिर्फ एक बार 10 घंटे जिम करने से बॉडी नहीं बनती लेकिन नियमित रूप से 10 मिनट जिम करने से बॉडी बनने लगती है

ठीक वैसे ही एक बार लगातार लिखने से, लिखने की कला बेहतर नहीं होगी लेकिन नियमित रूप से लिखने पर आपको रिजल्ट देखने को मिलेंगे आपको कंसिस्टेंसी बनाए रखनी है

कैसे करें:

  • सबसे पहले एक समय सुनिश्चित करलें जिस समय आप आराम से लिख सके
  • अब अपने दिमाग में कोई कविता,कहानी या कुछ भी चीज जो आपके दिमाग में चल रही हो उदाहरण: जब भी कहीं से घूमकर आओ तो उसके बारे में लिखो जैसे तुम्हारे साथ कौन-कौन से दोस्त घूमने गए, तुम कहाँ-कहाँ घूमने गये तुमने वहां क्या क्या किया, ऐसी ही चीजों को सोचें और बोलकर लिखने लगे

इस तरह आप बोलकर लिख सकते हैं

लिखते वक्त रखें अपने बॉडी पोस्चर का ध्यान

बेहतर और जल्दी लिखने में आपका शरीर का पोस्चर (Body Posture) एक अहम भूमिका निभाता है जब भी आप लिखें तो ध्यान रखें आपका बॉडी पोस्चर सही हो

जब आपका बॉडी पोस्चर सही होगा तो आपको लिखने में आसानी तो होगी ही साथ में आप बेहतर भी लिख पाएंगे

ये आपके बॉडी फिटनेस के लिए भी काफी फायदेमंद है

एक सही बॉडी पोस्चर वही माना जाता है जिसमें आप पूरी तरह से कंफर्टेबल (Comfortable) फील करें एक सही बॉडी पोस्चर को मेंटेन करने के लिए इन बातों का ध्यान रखें:

  • अपनी पीठ को सीधा रखें और सुनिश्चित करें कि आपके पैर जमीन (फर्श) पर एकदम सीधे से रखे हो
  • पीठ के निचले हिस्से को एकदम सटीक और सीधा रखें
  • जब भी आपको लगे आपका बॉडी पोस्चर झुक गया है उसे वापस सही करलें

कैसे करें:

  • इस प्रक्रिया को करने के लिए आप टेबल और कुर्सी का सहारा लें
  • अगर आपके पास यह मौजूद नहीं है तो इसके विपरीत आप स्टूल और अलमारी जैसी चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखें आपकी कुर्सी बहुत नीची या डेस्क बहुत ऊंची नहीं होनी चाहिए

इस्तेमाल करें सही पेन

ज्यादातर लोग लिखते वक्त गलत पेन का इस्तेमाल करते हैं जो कि सही नहीं है

बेहतर लिखने के लिए सही पेन का चुनाव करने से 50% काम यहीं आपका हो जाएगा लेकिन बात आती है सही पेन का पता कैसे लगाएं जो जल्दी लिखने में आपका साथ दे

अब यह पूरी तरह आप पर निर्भर करता है आप किस पेन में कंफर्टेबल फील करते हैं एक बढ़िया पेन उसे माना जाता है जो लिखते समय किसी तरह की अटकन पैदा ना करें सही पेन का चुनाव करते वक्त इन बातों का ख्याल रखें:

  • पेन का साइज मीडियम होना चाहिए
  • साथ ही पैन हल्का होना चाहिए
  • पेन की निप ज्यादा मोटी या ज्यादा छोटी नहीं होना चाहिए
  • स्टैंडर्ड पेन लेने से बचें

वाक्यों पर ध्यान दें

आपको शब्दों पर ध्यान ना देते हुए वाक्यों पर फोकस करना है ऐसा करने से आपकी लिखने की स्पीड दोगुनी हो जाएगी साथ ही आपका समय भी बचेगा

खासतौर पर यह टेक्निक किताबों से लिखते वक्त ज्यादा काम आती है अगर आप किसी चीज को देखकर लिख रहे हैं तो इस तकनीक का उपयोग जरूर करें ऐसा करने से आपका समय भी बचेगा आप जल्दी भी लिख पाएंगे और साथ ही इसका सबसे बड़ा फायदा यह भी है आपको लिखा हुआ याद भी हो जाएगा

तो है ना यह जोरदार ट्रिक!

कैसे करें:

इसको एक उदाहरण से समझते हैं मान लें आप किसी किताब से लिख रहे है अब उसमें एक वाक्य है:

“लिखो फास्ट आगे रहना है तो”

अब आप इसको शब्द टू शब्द ना लिखकर पूरे वाक्य को पढ़कर लिखें जैसे: लिखो फास्ट आगे रहना है तो ना कि एक एक शब्द लिखकर

पूरी बाजू का उपयोग करें

तेजी से लिखने का बेहतरीन तरीका है “आर्म मूवमेंट मेथड” लिखते समय अपने हाथ की पूरी मांसपेशियों का उपयोग करें

अमेरिका के एक एसोसिएशन में हुई रिपोर्ट के अनुसार, स्कूलों में सिखाई जाने वाली लिखावट की सामान्य विधि अक्सर ऐंठन का कारण बनती है क्योंकि यह हाथ की छोटी मांसपेशियों का उपयोग करती है

इसीलिए लिखते समय अपनी उंगलियों का इस्तेमाल ना करके पूरे हाथ का इस्तेमाल करें इससे लिखते समय आप काफी आरामदायक फील करेंगे साथ ही ज्यादा समय तक लिख पाएंगे

काफी लोग लिखते वक्त जल्दी थक जाते हैं उनके हाथ में दर्द होने लगता है इसका सबसे बड़ा कारण यही है इसीलिए अब लिखते समय इस बात का ध्यान रखें

कैसे करें:

  • उंगलियों के बजाय पूरे पृष्ठ पर अपनी कलाई का प्रयोग करें
  • अपनी कोहनी को 90° से अधिक के कोण पर रखें
  • अपनी बांह को कोहनी के पीछे टेबल के किनारे पर फैलाएं

पेन को हलका पकड़े

ज्यादा तेज पेन पकड़ने से कुछ ही समय में उंगलियों में दर्द होने लगता है इसीलिए पेन हल्के से पेन को पकड़े अगर आप पेन को तेजी से पकड़ते हैं तो कोशिश करें इस समस्या को छोड़ने की

पेन को टाइट पकड़ने पर कई तरह की समस्याएं होती है जिनमें शामिल है:

  • उंगलियों में दर्द
  • लिखते समय तनाव होना
  • राइटिंग सही नहीं आना
  • जल्दी ना लिख पाना

नियमित प्रैक्टिस करें

वो कहावत तो आपने सुनी होगी “Practice makes a Man Perfect” इसीलिए नियमित अभ्यास करें रोज प्रैक्टिस करने से ना सिर्फ आपके लिखने की गति तेज होगी साथ ही आपकी राइटिंग भी सुधरेगी

जितना अधिक आप प्रैक्टिस करेंगे आपकी लिखावट उतनी ही तेज और साफ-सुथरी होगी

ऐसा करने से बचें

कुछ बातों से आपके जल्दी लिखने में असर हो सकता है, जैसे कि:

  • लिखते समय पेन का ढक्कन पेन के पीछे ना लगाएं ऐसा करने से पेन का वजन ज्यादा हो जाएगा और आपको लिखने में समस्याओं का सामना करना पड़ेगा साथ में यह आपकी लिखने की गति को भी प्रभावित करेगा
  • शुरुआत में ज्यादा जल्दी लिखने से बचें क्योंकि शुरुआत में ऐसा करने से आप जल्दी थक जाएंगे और हो सकता है फिर आप भी डिमोटिवेट हो जाए


Leave a Reply

Your email address will not be published.