Live Updates: शिहाब चित्तूर की हज यात्रा कहां तक पहुंची, किन चुनौतियों का सामना अभी शिहाब भाई कर रहे हैं?

Shihab Bhai Hajj Update: भारत के राज्य केरल से 2 जून को शुरू हुई शिहाब चित्तूर की हज यात्रा को आज 5 महीने पूरे हो गए हैं. अभी शिहाब राजस्थान में हैं. दरअसल शिहाब को पाकिस्तान में दाखिल होने को लेकर मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. कुछ लोगों का कहना है पाकिस्तानी सरकार शिहाब को वीजा नहीं दे रही है. लेकिन यहां सवाल उठता है अगर पाकिस्तान ने शिहाब को वीजा नहीं दिया तो क्या यह हज यात्रा यही समाप्त हो जाएगी? तो इसका जवाब है नहीं, शिहाब चीन से होते हुए भी सऊदी अरेबिया तक जा सकते हैं लेकिन यह रास्ता और भी मुश्किल भरा है इस रास्ते के जरिए शिहाब को और भी ज्यादा लंबी दूरी तय कर करनी होगी. खैर पाकिस्तान की तरफ से वीजा मिलने की उम्मीद अभी जारी है.

जिस रास्ते से शिहाब अभी जा रहे हैं वो भारत के बाद पाकिस्तान, इराक, ईरान और कुवैत से होता हुआ सीधा सऊदी अरेबिया जाता है. अरब पहुंचने के बाद शिहाब मक्का में जाएंगे जहां हज किया जाता है. इस सफर को पूरा करने के लिए शिहाब हर दिन 25 से 30 किलोमीटर पैदल चलते हैं अगर शिहाब इसी रफ्तार से चले तो आने वाले 8 महीनों के अंदर वह अपना सफर पूरा कर लेंगे.इस सफर को पूरा करने में काफी लोग उनके साथ कई किलोमीटर पैदल चलकर शिहाब का हौसला बढ़ा रहे हैं. तो कई लोग उनके ऊपर फूल बरसा रहे हैं.

शिहाब कई साल पहले से ही पैदल हज यात्रा की तैयारी कर रहे थे उनका कहना है पैदल हज करना उनका बचपन का सपना है और आज उनकी मां की दुआओं से ये पूरा हो रहा है. और इसके लिए उन्होंने सभी देशों की सरकारों से पहले ही परमिशन ले ली है और भारत में भी वो जिस राज्य से गुजर रहे हैं वहां की सरकारों से परमिशन ले चुके हैं.

अगर एक सामान्य हज की बात करें तो मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2022 में भारत से जा रहे हर एक हज यात्रियों को लगभग ₹4 लाख रुपए खर्च करने पड़े हैं. 2022 में कुल 80,000 भारतीयों ने हज किया.

लेकिन यहां कुछ सवाल उठते हैं:

  • आखिर शिहाब चित्तूर हैं कौन?
  • शिहाब के इस सफर में कितनी चुनौतियां आ सकती हैं?
  • शिहाब की हज यात्रा में कुल कितना खर्च हुआ और सिक्योरिटी का पैसा कौन देगा?
  • क्या इस तरह हज करना इस्लाम में जायज है?

आखिर शिहाब चित्तूर हैं कौन?

शिहाब चित्तूर का जन्म 1993 में केरल के मलप्पुरम में हुआ. शिहाब पेशे से डॉक्टर और यूट्यूब होने के साथ एक बिजनेसमैन है. शिहाब ने अपनी ग्रेजुएट बैचलर ऑफ मेडिसिन से पूरी की. शिहाब सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं इंस्टाग्राम पर उनके 4 मिलीयन फॉलोअर्स होने वाले हैं तो वहीं उनके यूट्यूब चैनल पर एक मिलियन से ज्यादा सब्सक्राइबर्स है.

शिहाब चित्तूर के बारे में कुछ फैक्ट्स:

  • शिहाब 21वी सदी में भारत के पहले व्यक्ति हैं जो केरला से मक्का तक पैदल चलकर हज का सफर तय करेंगे.
  • इस सफर में वो अपने रास्ते में मस्जिदों में ही आराम करेंगे.
  • शिहाब अभी राजस्थान में है और वाघा बॉर्डर पार कर पाकिस्तान दाखिल होंगे.
  • फरवरी 2023 तक उनकी मक्का पहुंचने की उम्मीद है. हालांकि ये इस बात पर निर्भर करता है शिहाब रोजाना कितने किलोमीटर चलते हैं.
  • शिहाब के पास अब तक ₹4 करोड रुपए संपत्ति होने का अंदाजा है.
  • अगर शिहाब का यह सफर सफल रहा तो वो जून 2023 में हज कर पाएंगे.

शिहाब के इस सफर में कितनी चुनौतियां आ सकती हैं?

जहां तक बात चुनौतियों की है तो ऐसा होने की संभावना काफी कम है क्योंकि शिहाब पहले से ही इसकी तैयारी कर चुके हैं. लेकिन इसके बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता हर देश की सरकारें और कानून अलग है.

शिहाब की हज यात्रा में कुल कितना खर्च हुआ और सिक्योरिटी का पैसा कौन देगा?

‘कुल कितना खर्च हुआ’ यह कहना अभी गलत होगा क्योंकि शिहाब चित्तूर का सफर अभी खत्म नहीं हुआ है. लेकिन मीडिया रिपोर्ट की मानें तो शिहाब के इस सफर में कुल ₹20 लाख रुपए तक की लागत का अनुमान है. और जहां तक बात सिक्योरिटी की है तो इसमें उनके साथ कुछ गार्ड्स और लोकल पुलिस शामिल है जिसका खर्च वह खुद अपने पास से अदा करेंगे.

क्या इस तरह हज करना इस्लाम में जायज है?

इस्लाम के पांच प्रमुख स्तंभ है, कलमा, नमाज, जकात, रोजा, और हज, हर उस शख्स पर यह चीजें फर्ज है जो इस्लाम को मानता है और जहां तक बात पैदल चलकर हज की है तो हर उस शख्स का हज कबूल है जो सच्चे मन से हज के लिए जाता है. उलेमाओं का कहना है, कई साल पहले जब गाड़ियां और हवाई जहाज नहीं चलते थे तो लोग हजारों किलोमीटर पैदल चलकर ही हज पर जाया करते थे.

इससे पहले भी ब्रिटेन में रहने वाले आदम 6,500 किलोमीटर पैदल चलकर हज कर चुके हैं जिसके लिए उन्हें कुल 11 महीने 26 दिन लगे.

शिहाब चित्तूर अभी कहां है

Shihab Chottur Today Location Update: शिहाब को आज यानी 7 अक्टूबर तक पूरे 128 दिन हो चुके हैं शिहाब अभी पंजाब पहुंच चुके हैं. शिहाब चित्तूर से जुड़ी अपडेट पाने के लिए इस आर्टिकल को सेव करलें. आर्टिकल सेव करने के लिए ऊपर दिए गए लिंक को कॉपी करलें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *